UPI PAYMENTS NEWS : क्या आप भी यूपीआई से करते हैं ट्रांजेक्शन, जानिए इस पर वित्त मंत्रालय की क्या है नई अपडेट।

हाल ही में सोशल मीडिया पर यूपीआई से भुगतान संबंधित कुछ खबरें प्रसारित हो रही थीं कि अब यूपीआई से लेन-देन अर्थात फोन-पे, गूगल पे, अमेजाॅन-पे, पेटीएम इत्यादि जो भी आप ट्रांजेक्शन करने के लिए इस्तेमाल करते हैं उसके लिए सभी उपयोग कर्ताओं (ग्राहकों) सरकार को शुल्क देना होगा किंतु वित्त मंत्रालय ने 21 अगस्त देर शाम ट्वीट जारी कर सोशल मीडिया पर प्रसारित यूपीआई भुगतान संबंधित शुल्क लेने की खबरों को असत्य करार दिया है।

वित्त मंत्रालय ने एक के बाद एक, दो ट्वीट जारी कर समझाया पूरा मामला ।

UPI एक डिजिटल सार्वजनिक वस्तु है जिसमें जनता के लिए अत्यधिक सुविधा और अर्थव्यवस्था के लिए उत्पादकता लाभ है। UPI सेवाओं के लिए कोई शुल्क लगाने के लिए सरकार में कोई विचार नहीं है। लागत वसूली के लिए सेवा प्रदाताओं की चिंताओं को अन्य माध्यमों से पूरा करना होगा। (1/2)

वित्त मंत्रालय द्वारा जारी ट्वीट संदेश, भाग-I

सरकार ने पिछले साल डिजिटल भुगतान (Digital Payment) पारिस्थितिकी तंत्र के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की थी और इस वर्ष भी डिजिटल भुगतान (Digital Payments) को अपनाने और भुगतान प्लेटफार्मों को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहित करने की घोषणा की है जो किफायती और उपयोगकर्ता के अनुकूल हैं। (2/2)

वित्त मंत्रालय द्वारा जारी ट्वीट संदेश, भाग-II

कहाँ से उभरा यूपीआई ट्रांजेक्शन से शुल्क का मामला ?

आप सभी को ज्ञात हो कि कुछ दिनों पहले भारतीय रिजर्व बैंक अर्थात RBI ने लोगों से UPI पेमेंट एवं चार्जेज (शुल्क) संबंधित फीड़बैक मांगा था , जिसके लिए RBI ने एक कंसल्टैंट पत्र भी जारी किया था। RBI द्वारा जारी इस मुद्दे से लोगों के मध्य ऐसा संदेह उत्पन्न हुआ कि अब सरकार यूपीआई भुगतान पर भी शुल्क वसूलने जा रही है किंतु वित्त मंत्रालय ने इसका सरे से खंडन करते हुए ट्वीट जारी कर इस बात की सूचना दिया है और कहा ग्राहकों से यूपीआई भुगतान पर कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।

खबरों का तेज व सटीक नोटिफिकेशन पाने के लिए जुड़े हमारे टेलीग्राम चैनल से जिसका लिंक नीचे दिया गया है।

Join Our Telegram Channel : Click Here

Leave a Comment

Your email address will not be published.