Seven Sisters of India| उत्तर-पूर्वी राज्यों की सुन्दरता से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

Seven sisters के बारे में लगभग सबने ही सुना होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि seven sisters कौन हैं चलिए आज हम आपको seven sisters और प्राकृति के इस सौंदर्य के कुछ रोचक एवं महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में बताते हैं-

Seven sisters भारत के हरे भरे राज्य

Seven sisters (सात बहनें) भारत के उत्तर पूर्व में स्थित हैं यह सात राज्य अरूणाचल प्रदेश, असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड एवं त्रिपुरा को कहा जाता है। वैसे सभी की जानकारी के लिए बता दें। कि सिक्किम भी उत्तर पूर्वी राज्यों में से ही एक है परन्तु जब seven sisters का गठन हुआ उस समय सिक्किम भारत का हिस्सा नहीं था। सिक्किम को 23 अप्रैल 1975 को भारत के राज्यों में सामिल किया गया, अर्थात संक्षिप्त मे कहा जा सकता है कि seven sisters के गठन के बाद भारत का राज्य बनाया गया।

इन उत्तर पूर्वी राज्यों की एक दूसरे पर निर्भरता एवं समानता के कारण ज्योति प्रकाश साकिया ने इन राज्यों को seven sisters नाम दिया। इन राज्यों में प्रकृति ने अपने सौंदर्य को भली भाँति बिखराया है, इस कारण इन राज्यों इनकी सुन्दरा के लिए भी जाना जाता है। यहा पर प्रकृति के खूबसूरत नजारे देखने को मिलते हैं।

यह राज्य सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक तथा भौगोलिक रूप स भी एक दूसरे पर निर्भर हैं । और यह एक दूसरे के समान भी है परन्तु यदि हम इनकी सभ्यता व संस्कृति की बात करे तो यह राज्य (seven sisters) एक दूसरे से बहुत भिन्न हैं। देश – विदेशों से लोग इन राज्यों (seven sisters of India) की प्रकृति से प्रदान सुन्दरता को देखने के लिए आते हैं।

भारत के ये प्रकति द्वारा सजाय गए राज्य seven sisters के नाम से जाने जाते हैं।

1असम: इक राज्य की स्थाप 7 अप्रैल 1937 को हुई थी। इसकी राजधानी दिसपुर है। इस राज्य में प्रकृति ने अपने अनुपम सौंदर्य को भली-भाँति बिखेरा है यहा प्रकृति के अद्भुत नजारे देखने को मिलते हैं। प्राचीन काल में इसे कामरूप भी कहा जाता था। इसके इस नाम से ही इसकी सुन्दरता का अनुमान लगाया जा सकता है।यदि आप घूमने का शौक रखते हैं तो यह आपकी पसंदीदा जगहों में से एक होने बाला है इस राज्य के कुछ प्रमुख स्थान इस प्रकार हैं-

  • कामख्या मंदिर – नीलाचल गुहाटी
  • आहोम राजा का महल -कारेंघर
  • तलातल घर -शिवसागर
  • रंग घर – रंगपुर
  • देवीडोल – शिवसागर
  • कालिया भामोरा सेतु – सोनारपुर
  • चाय बागान – डिबूगड़
  • चंद्रकांता हस्तकला भवन – जोरहट                            

2 – नागालैंड: इसकी स्थापना 1 दिसम्बर 1963 को हुई थी, नागालैंड की राजधानी कोहिमा है इसकी सीमा असम, अरूणाचलप्रदेश, मणिपुर राज्यों तथा  बर्मा से लगती है । इसका सबसे बडा शहर दीनापुर है। इस शहर में चारो ओर प्रखति के सुन्दर दृश्य देखने को मिलते हैं ।

यह राज्य चारो ओर से हरियाली से घिरा हुआ है। यहा चावल एवं मक्का की खेती अधिक होती है यहा कोहिमा के अलावा दीनापुर की किफर व्यूल जगह भी देखने के लिए अच्छी है। कोहिमा में हार्नविल पर्व मनाया जाता है ,जो बहुत जादा लोकप्रिय है ।इस पर्व को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं।

3- मणिपुर: राज्य की स्थापना 21 जनवरी 1972 को हुई थी। यह राज्य कुल 9 जिलों से मिलकर बना है। मणिपुर की राजधानी इम्फाल है ,जो इसका सबसे बड़ा शहर भी है। वैसे मणिपुर का अर्थ है “आभूषणों की भूमि” यहाँ हाथ से बेहद अद्भुत व आकर्षक सामान बनाया जाता है , यह इसखे लिए भी जाना जाता है। इस राज्य में प्रकृति के सुन्दर एवं आकर्षक नजारे देखने को मिलते हैं जैसे – रंग बिरंगे फूलों के पौधे,दुर्लभ जीव-जन्तु आदि ।

यहा सुन्दर जंगल और ऊंचे-ऊचें पहाड़ से गिरने वाले झरने भी देखने को मिलते हैं। मणिपुर की लोकटक झील की खुबसूरती देखने लायक है।

4 – मेघालय: मेघालय को 1 अप्रैल 1970 अर्ध स्वातय राज्य का दर्जा दिया गया था ,इसके बाद 21 जनवरी 1972 को पूर्ण रूप से पूर्ण राज्य स्वीकारा गया । मेघालय का सबस बड़ा शहर शिलांग है जो इसकी राजधानी भी है। चेरापूंजी भी इसी राज्य में स्थित है। बादलो से घिरे इस राज्य में वर्षा अधिक होती है ,तथा इसकी सुन्दरता के कारण देश-विदेश से लोग यहां घूमने आते है। नेपेथिंग खासियाना नामक पौधा भी यहीं पाया जाता है। यहा प्रकृति के बहुत ही सुन्दर नज़ारे देखने को मिलते हैं।

5 – त्रिपुरा: 1946 यह भारत का स्व-शासित राज्य बना और फिर 21 जनवरी 1972 को इसे पूर्ण राज्य का दर्जा मिला। इसकी राजधानी अगरतला है । इसके प्रमुख स्थान कुंज वन एवं नील महल पैलेस हैं। इसके अतिरिक्त कमलसागर ,सेफजाला, उदयपुर ,पिलंग जामपुई हिल आदि घूमने के लिए अच्छी जगह हैं।

6 – अरूणाचल प्रदेश: अरूणाचल प्रदेश खी स्थापना 20 फरबरी 1987 को हुई थी। इसका अधिकतम हिस्सा पर्वत से घिरा हुआ है।और इस राज्य को उगते हुए सूरज का प्रदेश कहा जाता है। इसकी राजधानी ईटानगर है तथा यह राज्य 16 राज्यों से मिलकर बना है यहा अधिकतम जंगल होने के कारण पर्यटको को घूमने के लिए सरकार से परमिशन लेनी पड़ती है। पौराणिक गंगा झील ,बौद्ध मंदिर आदि पर्यटकों के घूमने के लिए अच्छे स्थान हैं। और यहा हाथ से बनी वस्तुऐं तथा यहा का शानदार पहनावा भी इस राज्य को और आकर्षक बनाता है।

7 – मिजोरम: मिजोरम पहले असम राज्य का ही हिस्सा था । 20 फरवरी 1987 को इसे असम से अलग करके भारत का 23 वाँ राज्य बनाया गया। इसकी राजधानी आइजोल है। इस राज्य में सात जिले हैं। इआ राज्य में पहाड़ और झीलों की अधिकते के कारण इसे पर्वतीय राज्य भी कहा जाता है। व्लू माउंटेन, बान- ताग फाल्स और तामदिल झील यहां के खूबसूरत पर्यटक स्थल हैं।

इन सात खूबसूरत राज्यों ( असम, नागालैंड, मणिपुर, मेघालय, त्रिपुरा, अरूणाचल प्रदेश, मिजोरम) को seven sisters के नाम से जाना जाता है। इन राज्यों की खूबसूरती को प्रकति भली- भांति सवांरा है जहां आपको बहुत ही खूबसूरत नजारे देखने मिलेंगे।

 

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.