Happy Birthday Sunil Gavaskar: भारत के “लिटिल मास्टर” सुनील गावस्कर की कुछ ऐसी खास बातें जो आपके लिए जानना है अतिआवश्यक

भारतीय क्रिकेट जगत महान खिलाड़ियों से खाली नही है। इसमें कई ऐसे खिलाड़ी रहे है जिन्होंने अपने शानदार प्रदर्शन के कारण अंतराष्ट्रीय स्तर पर अपना लोहा मनवाया है। सुनील मनोहर गावस्कर इनमे से ही एक है। उनके अच्छे प्रदर्शन के कारण उन्हें सन् 1975 में अर्जुन पुरस्कार और सन् 1980 में पद्म भूषण से नवाजा गया।इसके अतिरिक्त उन्हे सन् 1980 में विज्डन से भी सम्मानित किया गया जोकि 1902 के बाद प्रतिवर्ष अपने खेल में उच्चतम पाँच क्रिकेट खिलाड़ियों को दिया जाता है।

जीवन परिचय

सुनील गावस्कर का जन्म 10 जुलाई, 1949 को महाराष्ट्र के मुंबई में हुआ था। उनके माता और पिता का नाम क्रमशः श्रीमती मीनल गावस्कर और श्री महोहर गावस्कर है। उनके पत्नी का नाम श्रीमती मार्शनील गावस्कर और बेटे का नाम रोहन गावस्कर है। रोहन गावस्कर भी भारतीय टीम का हिस्सा रह चुके है।उनका कद छोटा होने और खेल में माहिर होने के कारण कॉमेंटेटर ने उन्हें लिटिल मास्टर की उपाधि दी। वही लोग उन्हें सनी के नाम से भी जानते है। उन्हें क्रिकेट का आभूषण भी कहा जाता हैं।

क्रिकेट कैरियर

सुनील गावस्कर भारत के दाहिने हाथ के बल्लेबाज और पार्ट टाइम गेंदबाज रह चुके है। उन्होंने अपना टेस्ट डेब्यू 6 मार्च, 1971 को वेस्ट इंडीज के खिलाफ किया तथा उन्होंने 13 मार्च, 1987 को पाकिस्तान के खिलाफ अपना आखिरी टेस्ट मैच खेलकर टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया। उन्होंने अपना पहला एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच 13 जुलाई, 1974 को इंग्लैंड के खिलाफ खेला तो वही आखिरी एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच 5 नवंबर, 1987 को इंग्लैंड के खिलाफ खेलकर एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को भी टाटा बाय-बाय बोल दिया।

सुनील गावस्कर: एक बल्लेबाज

सुनील गावस्कर भारत के लिए ओपन करने वाले दाहिने हाथ के बल्लेबाज थे। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 125 मुकाबलों में 51.12 के औसत दर से 10,122 रन जोड़े जिसमे 34 शतक मारकर उन्होंने डॉन ब्रैडमैन का रिकॉर्ड तोड़ दिया। इसके अलावा उन्होंने टेस्ट में 45 अर्धशतक भी बनाए। उनका अधिकतम स्कोर नाबाद 236 रन था। उनके डेब्यू के बाद उनका औसत रन कभी 50 रन से नीचे गया ही नही। उन्होंने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में भी 108 मुकाबलों में 35.13 के औसत से 3,092 रन बनाया। जिसमे 1 शतक और 27 अर्धशतक बनाया। उनका एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच का अधिकतम स्कोर नाबाद 103 रन है।उन्होंने एक वर्ष में एक हजार रन बनाने का कीर्तिमान भी स्थापित किया है।

सुनील गावस्कर: एक गेंदबाज

सुनील गावस्कर भारत के पार्ट टाइम गेंदबाज भी थे। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 380 गेंदे डाली जिसमे उन्हे 1 विकेट मिली वही एकदिवसीय मुकाबलों में उन्होंने 20 गेंदे डाली और 1 विकेट पाने में कामयाब रहे।

सुनील गावस्कर: एक कप्तान

सुनील गावस्कर भारत के लिए कप्तानी भी कर चुके है। उन्होंने अपने कप्तानी में भारत को एशिया कप और बेसन & हेजेस विश्व कप भी जिताया है।

सुनील गावस्कर: एक अभिनेता

सुनील गावस्कर ने सावली प्रेमाची (1980), कभी अजनबी थे (1985), मालामाल (1988) जैसे फिल्मों में अभिनय भी किया है।

सुनील गावस्कर: एक लेखक

सुनील गावस्कर क्रिकेट से संबंधित अनेक लोकप्रिय पुस्तके भी लिख चुके है। सनी डेज, आइडल्स और वन डे वंडर्स उनमें से ही प्रमुख है।

सुनील गावस्कर: एक कॉमेंटेटर

सुनील गावस्कर आजकल टीवी पर कमेंट्री भी करते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.