Happy Birthday Dada: सौरभ गांगुली का पचासा पूरा, जाने कौन है क्रिकेट के “महाराजा”

 

कल दुनियाभर के क्रिकेट प्रेमियों ने “कैप्टेन कूल” महेंद्र सिंह धोनी का जन्मदिन मनाया तो वही आज लोग कैप्टेन कूल के भी कैप्टेन “बंगाल टाइगर” श्री सौरभ गांगुली का जन्मदिन मना रहे है। महेंद्र सिंह धोनी ने अपना पदार्पण उन्ही के किया था। उनकी महानता का अंदाजा सिर्फ इस बात से लगाया जा सकता है कि उनके कप्तान होने के पहले टेस्ट रैंकिंग में भारत का स्थान 8वां था परंतु उनके कप्तान बनने के बाद भारत दूसरे स्थान पर पहुंच गया। इस समय वो बीसीसीआई के अध्यक्ष भी हैं।

जीवन परिचय

सौरभ चंडीदास गांगुली का जन्म 8 जुलाई, 1972 को कोलकाता के बेहाला में हुआ। वो एक समृद्ध परिवार में जन्मे और उनके पिता श्री चंडीदास एक छापेखाने में काम करते थे। उनकी माता का नाम श्रीमती निरूपा गांगुली है। उन्हें बचपन में महाराजा के नाम से पुकारा जाता था। उनके भाई का नाम स्नेहाशीष गांगुली है। उनके पत्नी का नाम श्रीमती डोना गांगुली है।उनकी एक बेटी भी है जिनका नाम सना गांगुली है।

क्रिकेट कैरियर

सौरभ गांगुली बाए हाथ के बल्लेबाज और दाएं हाथ के मध्यम तेज गेंदबाज थे। उन्होंने भारत की तरफ से अपना पदार्पण टेस्ट मैच 20 जून, 1996 को इंग्लैंड के खिलाफ खेला तो वही पहला एकदिवसीय मैच 11 जनवरी, 1992 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ खेला। वही उन्होंने 6 नवंबर, 2008 को वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट से और 14 नवंबर 2007 को एकदिवसीय मैचों से सन्यास लिया।

अंतराष्ट्रीय आंकड़े

उन्होंने 113 टेस्ट मैचों में 7,212 रन बनाए जिसमे 16 शतक और 35 अर्धशतक भी शामिल है। इसके अलावा उन्होंने 32 विकेट भीं झटके। वही एकदिवसीय मैचों की बात करे तो उन्होंने 311 मैचों में 11,363 रन बनाए जिसमे 22 शतक और 72 अर्धशतक भी शामिल है। इसके अलावा उन्होंने 100 विकेट भी झटके।

उनका योगदान भारत के लिए काफी अहम था। ऐसा माना जाता है की भारत को विदेशी धरती पर जितने का हुनर उन्होंने ही सिखाया। ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योंकि वो विदेशो में अबतक के सबसे सफल कप्तान साबित हुए है।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.