CBI _Full from ,cbi ka Full from क्या होता है

आज हम इस पोस्ट में जानेंगे की सीबीआई क्या होता है सीबीआई को हिंदी में क्या कहते हैं और सीबीआई कैसे काम करती है CBI full form_central bureau of investigation हिंदी में (केंद्रीय जांच एजेंसी & केंद्रीय जांच ब्यूरो ) कहते है

CBI के कार्य , सीबीआई किस तरह से काम करती हैं

सीबीआई एक ऐसी एजेंसी है जो नेशनल और इंटरनेशनल पर होने वाली क्राइम की जांच करती है ऐसी मर्डर घोटालों और भ्रष्टाचार की जांच करते हैं सीबीआई भारत की सबसे बड़ी इन्वेस्टिगेशन एजेंसी है जो भारत के बड़े से बड़े मामलों की जांच करती है और गृह मंत्रालय को रिपोर्ट देते हैं सीबीआई को कोई केस सौंपा जाता है तो वह उस केस को सॉल्व करने के लिए पूरी तरह से स्वतंत्र होती है उसके लिए किसी प्रकार की कोई पाबंदी नहीं होती है सीबीआई ने आज तक जितने भी केस अपने अंडर में लिए हैं उसकी वह गहराई से जांच करते हैं और उसे सॉल्व भी करती है

सीबीआई की स्थापना कब हुई ।

CBI सीबीआई की स्थापना 1941 में भारत सरकार ने स्पेशल पुलिस इसका सेकंड वार के भारतीय युद्ध और आपूर्ति विभाग में लेनदेन में घूसखोरी और भ्रष्टाचार की जांच करना था इस पुलिस स्टेविलियमेंट को 1963 में सीबीआई नाम दिया

* दिल्ली पुलिस स्टेविलिय अधिनियम एक्ट 1946 में सीबीआई को जांच की शक्तियां दी है

*सीबीआई का हेड क्वार्टर नई दिल्ली में है

*इसकेे founding director DP Kohli थे

CBI के विभाग निम्नलिखित है

CBI के गठन होने के बाद निम्नलिखित भागों में बांटा गया था एंटी करप्शन डिवीजन , इकनोमिक ऑफिस डिवीजन, स्पेशल क्राइम डिवीजन , डायरेक्टरेट ऑफ प्रॉसीक्यूशन, एडमिनिस्ट्रेटिव डिवीजन, पुलिस एंड कांडिनेट डिविजन और फारिसिक साइंस लैबोरेट्री

इसके कार्य _ किस तरह करते हैं ये कार्य

१ एंटी करप्शन डिविजन _ केंद्रीय सरकारी कर्मचारियों, केंद्रीय वित्तीय संस्थानों से जुड़े भ्रष्टाचार, धोखाधड़ी से संबंधित मामलों की जांच और केंद्रीय पब्लिक उपक्रमों की जांच जैसे कार्य

इकोनामिक ऑफेंस डिवीजन_ बैंक धोखाधड़ी, आयात _निर्यात, वित्तीय धोखाधड़ी और पुरातन वस्तुएं, संस्कृति संपत्ति की बढ़ती तस्करी आदि से संबंधित

३ स्पेशल क्राइम डिवीजन _ संवेदनात्मक मानव वध, आतंकवाद, बम ब्लास्ट ,माफिया और अंडरवर्ल्ड द्वारा किए गए अपराधों से संबंधि

* सीबीआई कोई संमाधानिक संस्था नहीं है

* सीबीआई राष्ट्रीय हितों से संबंधित अपराधों के विरुद्ध भारत सरकार की तरफ से जांच करती है

सीबीआई के दो तरह के विंग होते हैं पहला सामान्य अपराध विंग दूसरा आर्थिक अपराध विंग सामान्य अपराध विंग सामान्य अपराध की जांच करता है और आर्थिक अपराध भी आर्थिक अपराध की जांच करता है

सीबीआई की जांच से जुड़ी सुनवाई विशेष अदालत में होती है

Leave a Comment

Your email address will not be published.