शुभमन गिल का जीवन परिचय , Shubhaman Gill hindi biography

क्रिकेट, जिसे की अनिश्चितताओ का खेल कहा जाता है, शायद ही आज दुनिया भर में कोई ऐसा व्यक्ति होगा जो कि इसको खेलना पसंद न करता होगा। कहने का मतलब यह है कि आज विश्व भर में हर व्यक्ति अपने जीवन काल में क्रिकेट जरूर खेलता है, जिनमें से कुछ तो इसे अपना जुनून बना लेते हैं और एक दिन आगे जाकर अपने देश की टीम से खेलते हुए कई कीर्तिमान स्थापित करते हैं।


भारतीय क्रिकेट पर एक नजर 

क्रिकेट, जिसे की अनिश्चितताओ का खेल कहा जाता है, शायद ही आज दुनिया भर में कोई ऐसा व्यक्ति होगा जो कि इसको खेलना पसंद न करता होगा। कहने का मतलब यह है कि आज विश्व भर में हर व्यक्ति अपने जीवन काल में क्रिकेट जरूर खेलता है, जिनमें से कुछ तो इसे अपना जुनून बना लेते हैं और एक दिन आगे जाकर अपने देश की टीम से खेलते हुए कई कीर्तिमान स्थापित करते हैं।

 

आधुनिक समय के क्रिकेट में भले ही बहुत कुछ बदल गया है, भले ही नई नई तकनीकों की सहायता से क्रिकेट के खेल को और भी आकर्षक बना दिया गया है। अलग अलग तरह की गेंदे प्रयोग में लाई जाने लगीं, कई तरह के बैट्स, स्टंप्स आ गए, कुछ नए नियम भी आ गए और भी कई बदलाव हुए हैं। अगर कुछ नही बदला है तो वह है खिलाड़ियों के अंदर का जोश उनका खेल के प्रति जज्बा और जुनून। आज हम एक ऐसे ही एक युवा खिलाड़ी के बारे में आपको बताएंगे जिसने अपने जोश और जज्बे के साथ ही खेल के जुनून को भी जिंदा रखा और खुद को एक बेहतरीन खिलाड़ी साबित करके दिखाया। उस खिलाड़ी का नाम है- शुभमन गिल।

नाम  शुभमन गिल 
   
   
   
   
   
   
   
   
   

शुभमन गिल-

आप में से लगभग सभी लोगों ने शुभमन गिल का नाम जरूर सुना होगा, वही शुभमन गिल जिन्होंने भारतीय अंडर 19 टीम की 2017 के वर्ल्ड कप में उपकप्तानी भी की और टीम को विश्व कप जिताने में अहम भूमिका निभाई। इन्होंने हाल ही में सम्पन्न हुए आईपीएल 2022 में गुजरात टाइटंस की ओर से खेलते हुए गुजरात की टीम को उसके पहले ही सीजन में आईपीएल की ट्रॉफी जीतने में भरपूर एवं महत्वपूर्ण योगदान दिया। पंजाब के फाजिल्का में जन्मे शुभमन का जन्म 8 सितंबर 1999 को हुआ था। इनके पिता का नाम लखविंदर सिंह गिल और माता का नाम कीरत गिल है। इनके पिता किसान है। उनके फाजिल्का में खेत हैं। गिल के पिताजी बताते हैं कि वो खुद तो कभी क्रिकेटर नही बने पर शुभमन गिल के दादा जी दीदार गिल एक अच्छे कबड्डी खिलाड़ी थे। जिससे उनको खेल के बारे में कुछ जानकारी थी और वो हर खेल का सम्मान भी करते थे।

शुभमन गिल का बचपन-

शुभमन को बचपन से ही क्रिकेट में बेहद रुचि थी, वे क्रिकेट के अलावा किसी और खेल को खेलना पसंद ही नही करते थे। यहां तक कि वो गेंद और बल्ले के अलावा किसी खिलौने से भी खेलना पसंद नही करते थे। शुभमन दिन में तो बल्ले के साथ खेलते ही थे पर रात में भी सोते वक्त बल्ले को साथ लेकर सोते थे । शुभमन के पिता बताते हैं कि ” जब वह मात्र 3 या 4 साल के थे तब ही से शुभमन को क्रिकेट खेलने में रुचि हो गई थी। जब वो अपने पिता के साथ खेतों में जाया करते थे तो वहाँ पर वो अपना गेंद और बैट लेकर जाते थे और वहाँ खेतों में काम करने वाले लोगों से खुद के लिये बॉलिंग करवाया करते थे।” छोटे से शुभमन के लिए पिता ने घर के आंगन में ही एक नेट लगवाकर खुद ही बोलिंग करके उनकी प्रैक्टिस करवाने लगे। शुभमन पूरी लगन के साथ खेलते थे और लंबे लंबे शॉट लगाते थे। बेटे की क्रिकेट के प्रति इतनी लगन देखकर पिता लखविंदर ने बेटे के क्रिकेट खेलने के सपने को पूरा करने और उसे एक प्रोफेशनल क्रिकेटर बनाने के लिए पूरे परिवार के साथ मोहाली आकर एक किराए के घर में बस गए।

शुभमन के कैरियर की शुरुआत-

जब शुभमन के पिता मोहाली आये तब उनकी उम्र मात्र 8 साल थी। यहीं मोहाली में मानव मंगल स्मार्ट स्कूल में उनका दाखिला करवाया गया और उनके घर के पास के ही PCA स्टेडियम में शुभमन प्रोफेशनल क्रिकेट की प्रैक्टिस करने लगे। यहां पर उन्होंने अपने खेल की प्रतिभा को निखारना शुरू कर दिया।

पंजाब की टीम से की क्रिकेट की शुरुआत-

अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी के कारण इनको महज 11 वर्ष की उम्र में पंजाब की अंडर 16 टीम से जिला स्तर पर खेलने का मौका मिल गया। जिसमे उन्होंने 351 रन की यादगार पारी खेलते हुए निर्मल सिंह के साथ 587 रन कि रिकॉर्ड साझेदारी की। इसके बाद पंजाब की ओर से ही विजय मर्चेंट ट्रॉफी में खेलते हुए नाबाद दोहरा शतक लगाया और सब का ध्यान अपनी ओर खींच लिया। वर्ष 2013-14 में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए इनको बीसीसीआई के द्वारा सर्वश्रेष्ठ अंडर -16 खिलाड़ी के रूप में एम ए चिदम्बरम ट्रॉफी से सम्मानित किया गया।

2017 में अंडर 19 टीम में हुआ चयन-

लगातार बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे शुभमन ने 2017 में विदर्भ के खिलाफ अपने लिस्ट ए क्रिकेट कैरियर की शुरुआत की। इसी साल उन्हें भारत की अंडर 19 की टीम में इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली एकदिवसीय सीरीज के चयनित किया गया और शुभमन ने इसमें बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए पूरी सीरीज में 351 रन बनाकर मैन ऑफ द सीरीज रहें।

2018 की अंडर 19 वर्ल्डकप टीम के बने उपकप्तान-

लगातार खुद को बडे मौके पर साबित कर चुके शुभमन को 2018 के अंडर 19 वर्ल्ड कप टीम में चयनित किया गया और उपकप्तानी दी गई। यहाँ भी इन्होंने खुद को साबित किया औऱ अंडर 19 वर्ल्ड कप में भारत की तरफ से सेमीफाइनल में शतक लगाने वाले पहले खिलाड़ी बने। उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ इस मैच में भारत के लिए तीसरा सबसे तेज शतक 93 गेंदों पर लगाया। पूरे वर्ल्ड कप में उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया और भारत की झोली में वर्ल्ड कप डालने में टीम का पूरा सहयोग किया, इनके शानदार खेल के लिये इनको मैन ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया।

आईपीएल 2018 में कोलकाता की टीम ने खरीदा-

अंडर 19 वर्ल्ड कप में शुभमन के शानदार प्रदर्शन को देखते हुए आईपीएल 2018 के ऑक्शन में 1.8 करोड़ रुपये में कोलकाता की टीम ने अपनी टीम में शामिल किया। यहां भी शुभमन ने खुद को साबित किया और आईपीएल में 25 अप्रैल 2018 को इन्होंने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ अपना डेब्यू आईपीएल मैच खेलते हुए 30 रन के उपयोगी पारी खेलीं। इसी सीजन में अपने 7सातवें मैच में चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ इन्होंने अपना पहला आईपीएल अर्धशतक लगाते हुए नाबाद 57 रन की मैच जिताऊ पारी खेली। पूरे सीजन के दौरान 13 मैच खेलते हुए शुभमन ने 11 पारियों में बल्लेबाजी करते हुए 5 बार नॉट आउट रहे और 1 अर्धशतक की मदद से 33.83 के औसत और 146.04 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करते हुए 203 रन बनाए। कोलकाता के लिए शुभमन ने 2021 तक आईपीएल खेला और इस दौरान उन्होंने कई मैच जिताऊ पारियां खेली।

भारत की तरफ से 2019 में मिला वनडे और 2020 में टेस्ट टीम में मौका-

शुभमन गिल को लगातार उनके बेहतरीन प्रदर्शन के लिए उनको जनवरी 2019 में न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के चौथे मैच में विराट कोहली के स्थान पर इंटरनेशनल डेब्यू करने का मौका मिला, पूर्व भारतीय कप्तान धोनी ने इनको वनडे कैप दी। वो भारत की तरफ से वनडे खेलने वाले 227वें खिलाड़ी बने। पर इस मौके को भुनाने में वो असफल रहे और मात्र 9 रन बनाकर आउट हो गए।

इसके बाद इनको 2021 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज में खेलने का मौका मिला। अपना पहला टेस्ट मैच खेलते हुए शुभमन ने पहली पारी में शानदार शानदार 45 रन और दूसरी पारी में नाबाद 35 रन बनाए। अगले टेस्ट मैच में उन्होंने सिडनी में ऑस्ट्रेलिया के ही खिलाफ शानदार 50 रन की पारी खेली।

आईपीएल 2022 में गुजरात ने 8 करोड़ में खरीदा-

आईपीएल 2022 में पहली बार शामिल की गई गुजरात टाइटन्स की टीम ने इन्हें 8 करोड़ रुपये में अपनी टीम में शामिल किया और पूरे सीजन में गिल ने 16 मैचों में 4 अर्धशतक लगाते हुए 483 रन बनाए और गुजरात को पहले ही सीजन में आईपीएल का खिताब जीतने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। इस दौरान उनका सर्वोच्च स्कोर 96 रन रहा।

सुनील गावस्कर ने की तारीफ-

शुभमन के खेल की प्रसंशा करते हुए पूर्व भारतीय क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने कहा कि उनके अंदर एक बेहतरीन खिलाड़ी बनने की पूरी क्षमता मौजूद है और वो भारत के लिए एक महान खिलाड़ी साबित होंगे और भारतीय क्रिकेट टीम में अपना महत्वपूर्ण योगदान देंगे।

अब तक शुभमन का क्रिकेट कैरियर-

टेस्ट- शुभमन गिल ने अब तक भारत के लिये 10 टेस्ट मैच खेले हैं, जिनमें 19 पारियों में बल्लेबाजी करते हुए 32.82 के औसत और 56.77 के स्ट्राइक रेट से 558 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 4 अर्धशतक लगाये और उनका सर्वोच्च स्कोर 91 रन है। इन्होंने अब तक कुल 70 चौके और 8 छक्के लगाए हैं, इस दौरान वो 2 बार नॉट आउट भी रहे हैं।

वनडे- शुभमन ने अब तक कुल 3 वनडे मैच खेले हैं,जिनमे 3 पारियों में उन्होंने 16.33 के औसत और 69.01 की स्ट्राइक रेट से कुल 49 रन बनाए हैं। इस दौरान उनका सर्वोच्च स्कोर 33 रन है। अब तक उन्होंने 3 वनडे मैचों में 5 चौके और 1 छक्के लागये हैं।

 

आईपीएल- अब तक इन्होंने कुल 74 आईपीएल मैच खेले हैं, जिनकी 71 पारियों में बल्लेबाजी करते हुए 32.2 के औसत और 125.25 के स्ट्राइक रेट से 1900 रन बनाए हैं। इस दौरान वो 12 बार नॉट आउट रहे और कुल 14 अर्धशतक लगाये हैं। अब तक उन्होंने कुल 188 चौके औऱ 47 छक्के लगाए हैं। उनका सर्वोच्च स्कोर 96 रन है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.