बड़ी खबर : अब Allahabad University भी कराएगा यूपीएससी की तैयारी , मिलेगी 75 हजार से भी ज्यादा की स्कॉलरशिप , ऐसे करें अप्लाई

Allahabad University को पूरब के ऑक्सफोर्ड (oxford of east ) के नाम से जाना जाता रहा है। सदियों से यहां के विद्यार्थी भारतीय प्रशासनिक सेवा ( IAS ) में योगदान देते आ रहे हैं। प्रशासनिक सेवा परीक्षा की तैयारी के लिए इलाहाबाद विश्विद्यालय छात्रों को पहली पसंद होती थी।परंतु विगत दिनों यह सिलसिला करीब थम सा गया था लेकिन एक बार फिर इलाहाबाद विश्विद्यालय को पुराने रंग में लाने की कवायद तेज हो रही है।इसी कड़ी में इलाहाबाद विश्विद्यालय को भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा देश के 31 विश्वविद्यालयों में चुना गया है। मंत्रालय द्वारा यहां डाॅ अंबेडकर सेंटर फाॅर एक्सीलेंस स्थापित करने का निर्णय लिया गया है। इस बात की जानकारी इलाहाबाद विश्वविद्यालय ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर दी है साथ ही बताया कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय के लिए यह गर्व की बात है। 



कैसे मिलेगा छात्रों को लाभ

विगत वर्षों से Allahabad University से छात्रों का चयन का स्तर काफी नीचे रहा है जिसे देखते हुए इविवी कुलपति संगीता श्रीवास्तव काफी प्रयासरत है।उन्हीं के प्रयासों का नतीजा है की Allahabad University को भी उन विश्विद्यालयों में शामिल किया गया है जहां छात्रों की पढ़ाई कराई जाएगी।
Allahabad university का छात्र जो अनुसूचित जाति के हैं उनके लिए भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा डॉ अंबेडकर सेंटर फॉर एक्सीलेंस स्थापित करने का निर्णय लिया है ।
इसमें विश्वविद्यालय एवं मंत्रालय के बीच में एक एमओ यू पर 22 अप्रैल 2022 को माननीय राज्यपाल महोदया श्रीमती आनंदीबेन पटेल की उपस्थिति में एवं  केंद्रीय  मंत्री, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय, श्री वीरेंद्र कुमार, की उपस्थिति में बीएचयू , वाराणसी में हस्ताक्षर किए गए। तमाम विश्वविद्यालय में इस योजना के कार्यान्वयन की तैयारी शुरू कर ली गई है तथा शीघ्र ही यह डॉ अम्बेडकर उत्कृष्टता केंद्र , योजना के अंतर्गत कार्यान्वयित भी हो जाएगा। इस योजना के अंतर्गत अनुसूचित जाति के अभ्यर्थियों को 1 वर्ष के लिए सिविल सर्विस परीक्षाओं की कोचिंग दी जाएगी ताकि आर्थिक रूप से पिछड़े छात्र बेहतर तैयारी कर इन परीक्षाओं में उत्तीर्ण हो और सिविल सेवा में पहुंच सके। मंत्रालय द्वारा इसके लिए  प्रतिगोगिता परीक्षा के द्वारा 100 छात्रों का चयन किया जाएगा।इस परीक्षा में  33% सीटें छात्राओं के लिए आरक्षित रखी गई हैं।इस परीक्षा में यह भी नियम बनाया गया हा की अगर उपयुक्त महिला अभ्यर्थी नहीं मिलती हा तो सीट पुरषों के लिए दिया जा सकेगा। चयनित अभ्यार्थियों को 1 वर्ष के ऊपर  स्कालरशिप सहित आने वाले ₹75,000 का खर्च मंत्रालय द्वारा वहन किया जाएगा। इस योजना को कार्यान्वित करने के लिए चयनित विश्वविद्यालय के एक शिक्षक की नियुक्ति केंद्र के डायरेक्टर के रूप में की जाएगी

इसके अलावा, अभ्यर्थियों की तैयारी में मदद करने के लिए तीन शिक्षकों की भी नियुक्ति की जाएगी। जिन्हे मानदेय भी दिया जाएगा। इस योजना के तहत चयनित अभ्यर्थियों को इंटरनेट, वाईफाई, लाइब्रेरी आदि सुविधाएं भी दी जाएंगी ताकि उनकी तैयारी निर्बाध रूप से पूरी हो सके ।एक छात्र को 1 वर्ष की अवधि के लिए ही कोचिंग दी जाएगी परंतु अगर वह कोचिंग के दौरान 15 दिन से ज्यादा अनुपस्थित रहता है तो उनका पंजीकरण समाप्त कर दिया जाएगा तथा उन्हें स्कॉलरशिप का पैसा भी वापस करना पड़ेगा । 
इससे छात्रों को काफी मदद पहुंचेगी । जहां छात्रों का चयन हो पाएगा वहीं विश्विद्यालय की रैंकिंग में भी सुधार होगी।इससे संबंधित खबरें पाने के लिए हमारे टेलीग्राम से जुड़े रहें

ज्यादा जानने के लिए जॉइन कीजिए 
                
                                         लिंक 

                       सबसे पहले सुचना कैसे पायें ,

आपके काम की हर जरूरी खबर और उसकी सुचना उपलब्ध है हमारे इस वेबसाइट पर। चाहे हो रोजगार से जुड़ी खबर या हो योजनाओं संबंधी जानकारी या स्कालरशिप की हर अपडेट और हर खबर आपको मिलेगी हमारे इस वेबसाइट पर। अगर आप चाहते हैं कि जब भी हम कोई खबर प्रकाशित करें तो आपको उसका नोटिफिकेशन मिले तो आप हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़ सकते हैं जिसका लिंक इस पोस्ट के नीचे दिया गया है। नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके आप हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़ सकते हैं और हर अपडेट का नोटिफिकेशन सबसे तेज और पहले प्राप्त कर सकते हैं।

https://t.me/Yuva_Josh

   

Leave a Comment

Your email address will not be published.