UNIVERSITY

CORONA UPDATE : कई देशों में फिर से मुसीबत बनकर आया यह वेरिएंट , क्या परीक्षा पर पड़ेगा असर ?

Rate this post

करीब दो सालों से भी अधिक समय से पूरी दुनिया कोरोना संक्रमण की चपेट में है। वैश्विक स्तर पर मौजूदा समय में फिलहाल संक्रमण की रफ्तार कम है, परन्तु कुछ देशों में स्थिति अभी भी चिंताजनक बनी हुई है।

 हाल के रिपोर्ट में चीन में संक्रमण की दर में एक बार फिर से उछाल देखा गया है, इसके चलते “चांगचुन” शहर के औद्योगिक केंद्र में लॉकडाउन (lockdown) लगाया गया है। यहां कोरोना मामलों में आई इस तेजी की वजह ओमिक्रॉन वैरिएंट को माना जा रहा है। वहीं एक दूसरे रिपोर्ट में यूरोपीय देशों में डेल्टा और ओमाइक्रोन वैरिएंट के संयोजन ‘डेल्टाक्रॉन’ ने लोगों की समस्याओं को बढ़ा दिया है।काफी लोग दहशत में है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने अपनी हाल ही के रिपोर्ट में बताया कि फ्रांस, नीदरलैंड और डेनमार्क जैसे देशों ने डेल्टाक्रॉन के मामले बढ़ रहे हैं। कोरोना के एक सबसे संक्रामक और एक सबसे घातक माने जा रहे वैरिएंट का संयोजन, लोगों में गंभीर समस्याओं का कारण बन सकता है। WHO के वैज्ञानिकों का कहना है कि जिन देशों में फिलहाल संक्रमण का रफ्तार कम है उन्हें किसी भी तरह की लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए। कोरोना के कई वैरिएंट्स को अब भी सक्रिय पाया जा रहा है।अतः लोगों को काफी सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है।
डेल्टाक्रॉन वेरिएंट कर रहा है काफी लोगों को संक्रमित

कैलिफ़ोर्निया स्थित लैब हेलिक्स में अमेरिकी शोधकर्ता ने 22 नवंबर से 13 फरवरी तक के बीच एकत्र किए गए 29,719 कोरोनावायरस पॉजिटिव सैंपल्स की जांच की। वैज्ञानिकों ने  जाँच में पाया कि ज्यादातर लोगों में दो वैरिएंट्स के संक्रमण का संयोजन पाया गया। सैंपल में डेल्टा और ओमिक्रॉन वेरिएंट के जेनेटिक मैटेरियल्स पाए गए। शोधकर्ताओं ने पाया कि यूरोपीय देशों में संक्रमण के शिकार रह चुके ज्यादातर लोगों में एक साथ दो वैरिएंट्स का असर देखने को मिल रहा है। 
वार्षिक परीक्षा पर पड़ेगा असर ?

हालांकि विश्व में नए वेरिएंट डेल्टाक्रोन के मामले देखे जा रहे हैं परन्तु भारत में इसके आसार काफी कम है। हालांकि इसी तरह के मामले कोरोना के शुरुआती दिनों में था परन्तु उसके बाद उसका प्रभाव किस तरह से विश्व में फैला है यह हमसभी को पता है।
बहरहाल अगर यह वेरियंट भारत पहुंचता है तो कहीं न कहीं होने वाले वार्षिक परीक्षा पर प्रभाव पड़ेगा।हालांकि वार्षिक परीक्षा में अभी डेढ़ महीने ही बचे हुए हैं । इस बीच देखना होगा कि कोरोना का नए वेरिएंट का प्रभाव किस प्रकार से पड़ता है।


Get rid of Dark lips || Get Soft Pink Lips in 5 days at Home Naturally…..

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *