UP ELECTION 2022 : कान पकड़ कर उठक बैठक करते नजर आये BJP MLA, पुर्व IAS ने लिया कुछ इस प्रकार से चुटकी….

UP Election Update :  उत्तर प्रदेश में जैसे जैसे चुनाव आगे बढ़ रहा है नेताओं के अलग अलग रुप दिखने को मिल रहें हैं कोई उठक बैठक लगाते नजर आया कोई साड़ो के साथ चुनाव प्रचार करते! 
                                             

अखिलेश यादव योगी आदित्यनाथ पर वार करते हैं तो योगी आदित्यनाथ अखिलेश यादव को आतंकवादियों के केस वापस लेने का आरोप लगा रहा! 
मोदी ने समझाया साइकिल का आंतकी सम्बन्ध 
अभी हाल में गुजरात हाइकोर्ट ने आतंकी हमको में सामिल आतंवादियों को फांसी की सजा सुनाया! 
नरेंद्र मोदी ने अपनी चुनावी सभा में कहाँ की आतंवादियों ने साइकिल से ही बंम क्यूँ लेकर गए! 
नरेंद्र मोदी जी ने ये संदेश देने की कोशिश किया की साइकिल वाले आंतकवादीयों को गुजरात हाईकोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है  
केजरीवाल ने बताया की प्रधानमंत्री जी ने हर एक गरीब का अपमान किया है जो साइकिल से चलता है! 
विधानसभा चुनाव जीतने के लिए प्रत्याशी कोई भी हथकंडा आजमाने से नहीं चूक रहे। फिर कार्यकर्ताओं के सामने सिर झुकाना या दंड बैठकी करनी हो। सोनभद्र के राबर्ट्सगंज विधानसभा सीट से भाजपा विधायक भूपेश चौबे का ऐसा ही वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है।

                                                   

सॉरी सॉरी बोले, बचुआ कान पकड़ के।😆 pic.twitter.com/BXdCugReqB

— Surya Pratap Singh IAS Rtd. (@suryapsingh_IAS) February 23, 2022

वीडियो में भूपेश चौबे कार्यकर्ताओं की नाराजगी मिटाने के लिए माफी मांगते हुए मंच से कान पकड़कर उठक-बैठक कर रहे हैं। उन्होंने चार बार उठक-बैठक लगाई, मगर पांचवीं बार में उन्हें मंचासीन पार्टी नेताओं ने उन्हें रोक लिया। सोशल मीडिया में वायरल इस वीडियो की खूब चर्चा है। विपक्ष इसके जरिए भाजपा पर कटाक्ष करने में लगा है।
राबर्ट्सगंज सीट से वर्ष 2017 में सपा प्रत्याशी अविनाश कुशवाहा को हराकर भाजपा के भूपेश चौबे विधायक बने थे। पार्टी ने इस बार फिर से भूपेश चौबे पर ही दांव लगाया है। टिकट मिलने के बाद से ही पार्टी में गुटबाजी तेज हो गई है। 
कई कार्यकर्ता पांच साल तक दूरी का हवाला देते हुए विधायक से नाराजगी भी जता रहे हैं। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो मंगलवार का है। 
भाजपा के चुनाव कार्यालय पर आयोजित त्रिदेव सम्मेलन के दौरान भी कुछ कार्यकर्ताओं की ओर से ऐसी बातें सामने आने के बाद भूपेश चौबे मंच पर खड़े हुए और कार्यकर्ताओं से जाने-अनजाने में हुई भूल की क्षमा याचना करते हुए कान पकड़कर उठक-बैठक करने लगे।
मंच से विधायक को उठक-बैठक करता देख हर कोई सकते में आ गई। मंचासीन जिलाध्यक्ष अजीत चौबे, सदर ब्लाक प्रमुख अजीत रावत सहित अन्य नेता उन्हें रोकते रहे। 
चार बार उठक-बैठक के बाद उन्होंने पांचवीं बार भी प्रयास किया, लेकिन तब तक पार्टी नेताओं ने उन्हें रोक लिया। भाजपा विधायक के इस तरह से क्षमा याचना को कोई चुनावी हथकंडा बता रहा है तो कोई कुछ और टिप्पणी कर रहा है
इस दौरान भूपेश चौबे के साथ कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर झारखंड के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और विधायक भानु प्रताप शाही भी मौजूद थे। भानू प्रताप ने भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में वोट मांगा। 

Leave a Comment

Your email address will not be published.