UP Election : क्या समाजवादी पार्टी ने दिया विरप्पन के भाई को टिकट …

 

Prayagraj News: समाजवादी पार्टी ने फाफामऊ सीट एक ऐसे नेता को उम्मीदवार बनाया है, जो अपने नाम व काम के बजाय अपनी बड़ी मूंछों और चंदन तस्कर वीरप्पन की तरह दिखने के लिए मशहूर हैं

Prayagraj News: समाजवादी पार्टी ने संगम नगरी प्रयागराज (Prayagraj) की फाफामऊ सीट (Phaphamau seat) एक ऐसे नेता को उम्मीदवार बनाया है, जो अपने नाम व काम के बजाय अपनी बड़ी- बड़ी मूंछों और तमिलनाडु के कुख्यात चन्दन तस्कर वीरप्पन जैसी शक्ल-सूरत की वजह से ज़्यादा पहचाने जाते हैं. अंसार अहमद नाम के इस रसूखदार नेता की मूंछें फिल्मों के नत्थूलाल को भी मात देती हैं. ये अपने असली नाम से कम और वीरप्पन उपनाम से ज़्यादा पुकारे जाते हैं. अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) को छोड़कर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के बाकी दिग्गज नेता बड़ी-बड़ी सभाओं में भरे मंच से भी इन्हे वीरप्पन कहकर ही पुकारते हैं.

खुद को बताते हैं वीरप्पन का जुड़वा भाई

अंसार अहमद फाफामऊ सीट से कई बार विधायक रहने के साथ ही तकरीबन बीस साल पहले यूपी सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं. ये राजनीति में खूब मेहनत तो करते ही हैं, लेकिन साथ ही अपनी मूंछों के रख-रखाव पर भी काफी ध्यान देते हैं. अपने असली नाम के बजाय ये उपनाम से इतने ज़्यादा चर्चित हो चुके हैं कि इस चुनाव में यह मूंछों पर ताव देते हुए खुद को चंदन तस्कर वीरप्पन का जुड़वां भाई बताने से भी गुरेज़ नहीं करते. हालांकि मज़ाकिया लहज़े में यह सफाई भी देते हैं कि वह वीरप्पन के जुड़वां भाई ज़रूर नज़र आते हैं, लेकिन वह तस्करी या क़ानून से खिलवाड़ करने का कोई काम नहीं करते, बल्कि जनसेवक के तौर पर लोगों की मदद करने का काम करते हैं. उनका यह भी कहना होता है कि वीरप्पन भले ही पत्थर दिल था, लेकिन वह बहुत कोमल दिल वाले हैं.

अंसार अहमद को देखने आती है भीड़

समाजवादी पार्टी के दफ्तर से लेकर विधानसभा तक जब वह जाते हैं तो अपनी मूंछों और वीरप्पन जैसी सूरत की वजह से लोगों के बीच चर्चा का सबब बन जाते हैं. अपने अलग हाव-भाव की वजह से प्रयागराज के साथ ही आस-पास के तमाम जिलों के सीटों के सपा उम्मीदवार उन्हें स्टार प्रचारक के तौर पर मानते हैं. उनसे अपने क्षेत्र में प्रचार कराना चाहते हैं. अंसार अहमद उर्फ़ वीरप्पन का कहना है कि पार्टी पूरे प्रदेश में उनसे जहां भी प्रचार कराना चाहेगी, वह ज़रूर जाएंगे. उनके मुताबिक इस बार उनके अपने क्षेत्र फाफामऊ के साथ ही यूपी की सत्ता में भी बदलाव होगा. जनता परेशान हैं और वह अखिलेश यादव की तरफ उम्मीद भरी नज़रों से देख रही है.

वहीं देखा जाए तो फाफामऊ सीट पर अंसार अहमद का सीधा मुकाबला बीजेपी उम्मीदवार और पूर्व विधायक गुरु प्रसाद मौर्य से है. हालांकि बीएसपी और कांग्रेस भी लड़ाई को त्रिकोणीय व चतुष्कोणीय बनाने की कोशिशों में जुटे हुए हैं.

Leave a Comment

Your email address will not be published.